Whatsapp new Privacy Policy से लाइमलाइट में आए Signal App का व्हाट्सएप मेसेंजर से है खासा संबंध:- जानिए Amazing Facts

Whatsapp New Privacy Policy आने के कारण हर जगह व्हाट्सएप को यूज़र्स के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। इसी का फायदा उठाने के लिए Google Play Store पर कई नए तो कई पुराने Messaging App अपने आप को प्रोमोट करने में व्यस्त है। इसी में एक नया एप्लीकेशन लोगों में वायरल हो रहा है। यह है Signal App, हालांकि इसको नया तो नहीं कहेंगे लेकिन Whatsapp New Privacy Policy के आने के बाद और Tesla Car कंपनी के संस्थापक Elon Musk द्वारा Signal App को प्रोमोट करने के बाद से दुनिया भर में इस एप्लीकेशन की हर जगह चर्चा हो रही है। लेकिन इन चर्चाओं में जो बात नदारद है वे है कि Signal App का Whatsapp Messenger से अटूट रिश्ता। 

 

दोस्तों यह शायद पहली बार होगा कि एक शख्स एक ही बात पर दुखी भी हो और खुश भी। हैं न!, कुछ अजीब बात वैसे ऐसे ही Amazing Facts आप हमारी वेबसाइट पर भी पा सकते हैं। अब बात करते हैं इस ब्लॉग पोस्ट की। 

 

जैसे जैसे दुनिया तेजी से आगे बढ़ रही है वैसे ही लोगों के पास एक दूसरे से मिलने का समय भी कम हो रहा है। अब लोग सिर्फ Social Media sites पर ही मिल पाते हैं जैसे कि फेसबुक और ट्विटर और कुछ खास लोग एक दूसरे से Whatsapp Messenger पर एक दूसरे से अपने कोटे की बातचीत कर लेते हैं। लेकिन अब इसी Whatsapp के New Privacy Policy के कारण व्हाट्सप्प मेसेंजर लोगों के गुस्से को सहने पर मजबूर हो रहा है। Signal App और whatsapp के बीच के रिश्ते को समझने के लिए पहले सभी को व्हाट्सप्प से जुड़े Unknown Facts के बारे में जानना जरूरी है। 

 

Unknown Facts of Whatsapp Messenger in Hindi

 

दोस्तों दुनिया में कई चीजें हैं जिससे जुड़े रहस्य अधिकांश लोगों को नहीं पता होता बल्कि वह चीज हमेशा हमारे आस पास ही होता है। ठीक वैसा ही व्हाट्सप्प के बारे में कहा जा सकता है। Whatsapp Messenger से जुड़े कई फैक्ट्स हैं जो लोगों को नहीं पता होता। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ तथ्यों के बारे में जो शायद आपको न पता हो।

 

व्हाट्सप्प ने कभी भी मार्केटिंग नहीं करी:- जी हां बिल्कुल सही पढ़ा आपने, व्हाट्सएप के फाउंडर टीम को कभी भी अपने खर्चे पर मार्केटिंग करने की जरूरत नहीं पड़ी। दरअसल पहले के वक्त में किसी फ़ोन में व्हाट्सप्प का चल जाना फोन मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के लिए बेहद बडी बात होती थी। इसीलिए फ़ोन कंपनी अपने मार्केटिंग करते हुए व्हाट्सएप का नाम लेते थे।

 

Whatsapp Most Banned App में शुमार:- जब से Whatsapp New Privacy Policy बाजार में लेकर आया है तब से भारत में भी व्हाट्सप्प को बैन करने की मांग लगातार बढ़ रही है। हालांकि व्हाट्सप्प ने अब अपने कदम पीछे खींच लिए है और आने वाली 8 फरवरी को नई प्राइवेसी पालिसी नहीं आ रही है। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि व्हाट्सप्प दुनिया में सबसे अधिक बार बैन किया गया एप्लीकेशन है। व्हाट्सप्प दुनिया के 12 देशों में बंद है। जिसमें से यूएई, चीन, नार्थ कोरिया, सीरिया, बांग्लादेश, ईरान प्रमुख है। इन जगहों में अलग अलग कारणों से व्हाट्सप्प बंद है। 

 

व्हाट्सप्प के यूजर इस एप्प को एक दिन में 23 से ज्यादा बार ओपन करते हैं:- व्हाट्सएप द्वारा साझा किए गए डाटा अनुसार दुनिया भर में व्हाट्सप्प के यूजर एप्लीकेशन को एक दिन में 23 से ज्यादा बार ओपन करते हैं। यानी कि हर एक घंटे में एक बार तो जरूर इस्तेमाल करते हैं। 

 

Google भी Whatsapp Messenger को खरीदने की रुचि दिखा चुका था:- सर्च इंजन गूगल भी व्हाट्सप्प को खरीदने की पेशकश कर चुका है। 2014 में गूगल ने व्हाट्सप्प को $10 बिलियन में खरीदना चाहा लेकिन व्हाट्सप्प ने इस आफर को ठुकरा दिया और बाद में फेसबुक के मार्क जुकरबर्ग ने व्हाट्सप्प को तकरीबन दुगने दाम $19 बिलियन में खरीद लिया। 

 

चलिए अब बात करते हैं Signal App की यह कैसा एप्लीकेशन है। जो कुछ ही दिनों में फेमस होकर लोगों की जुबान और स्मार्टफोन पर चढ़ चुका है। 

 

सिग्नल एप्प क्या है? और उसके खास फ़ीचर्स (What is Signal App in Hindi and its important features)

 

सिग्नल एप्प व्हाट्सप्प के तर्ज पर बना एक मेसेंजर एप्लीकेशन है। व्हाट्सप्प द्वारा लाया गया नया प्राइवेसी पॉलिसी के बाद Signal app को लोग काफी डाऊनलोड कर रहे हैं। सिर्फ भारत में ही इसको डाऊनलोड करने में 79% लोगों की बढ़ोतरी हुई है। व्हाट्सप्प और सिग्नल एप्प में सबसे बड़ा डिफरेंस यही है कि सिग्नल एप्प को यूजर द्वारा और खुद सिग्नल एप्प के निर्माता उसे most secured app का दर्जा देते हैं। जैसे व्हाट्सप्प अपने यूजर डाटा को फेसबुक के साथ शेयर करता है लेकिन सिग्नल एप्प नहीं करता है। व्हाट्सप्प में चैट मैसेज का स्क्रीनशॉट लिया जा सकता है लेकिन सिग्नल एप्प में यह फ़ीचर है जिसके कारण कोई भी सिग्नल एप्प में यूजर स्क्रीनशॉट नहीं ले सकता। सिग्नल एप्प में कोई भी पुराना मैसेज नहीं बचता खुद ब खुद गायब हो जाता है। सिग्नल एप्प में एक होर खास फ़ीचर यह है कि कोई भी ग्रुप बनाकर आपको ग्रुप में जोड़ नहीं सकता सिर्फ इनविटेशन भेज सकता है। लेकिन ऐसा नहीं है कि Signal App में सब बेहतर है इसमें कई फ़ीचर की मौजूदगी नहीं है जो whatsapp messenger को सभी से अलग बनाती है।

 

व्हाट्सप्प बनाम सिग्नल एप्प Whatsapp vs Signal App

 

व्हाट्सप्प में Status Update का फ़ीचर बेहद पसंद किया जाता है लेकिन यह ख़ासियत सिग्नल एप्प में नदारद है। व्हाट्सप्प में अभी हाल ही में एक नया जरूरी फीचर जोड़ा है वह है UPI Payment यह फ़ीचर भी सिग्नल एप्प में देखने को नहीं मिलेगा। इसके अलावा Customized Wallpaper वाला फ़ीचर भी Signal App से गायब है। 

 

व्हाट्सप्प और सिग्नल अप्प का अनमोल रिश्ता ( Relationship Between Whatsapp and Signal App)

Brian Acton
Brian Acton co founder of WhatsApp Messenger and Signal App

Brian Acton यह नाम ही दोनों messenger एप्लीकेशन को एक सूत्र में बांधता है। Brian Acton ही Signal App के को-फाउंडर है और साथ में व्हाट्सप्प मैसेंजर के भी को-फाउंडर रहे हैं। अमेरिका के ब्रायन ऐक्टन पहले Yahoo के लिए भी काम कर चुके हैं। उसके बाद 2009 में Jan Koum के साथ इन्होंने Whatsapp Messenger को बनाया 2017 में व्हाट्सप्प को छोड़ने के बाद इन्होंने सिग्नल एप्प Moxie Marlinspike के साथ बनाया। 

 

दोस्तों यह था व्हाट्सप्प और सिग्नल एप्प का अनमोल रिश्ता। ऐसे ही Unknown Facts के लिए वेबसाइट पर आते रहें। 

 

धन्यवाद।

 

Leave a Comment