कैसे बना Sunday Holiday?, How Sunday becomes Holiday? 3 Interesting Facts

“आज Sunday Holiday का दिन है प्लीज सोने दीजिए” ऐसे डायलॉग हर रविवार को अधिकतर घर से सुनने को मिल जाते हैं। इस खास दिन का इंतजार खासकर हर युवा वर्ग करता है, सभी का कारण भिन्न भिन्न होता है लेकिन मंजिल एक वह है मौज मस्ती, हर तरह के टेंशन से मुक्ति। लेकिन क्या टेंशन फ्री होना इतना आसान है की मात्र Sunday Holiday के दिन यह खत्म हो जाए। खैर छोड़िए यह बात अलग है, लेकिन संडे मजेदार तो बहुत होता है।

इस दिन से सभी का खास लगाव रहा है, शायद ही कोई होगा जिसे रविवार पसंद न हो। युवा जोश तो इसके इंतजार में शनिवार की रात से ही नाच नाच कर इसी दिन के स्वागत में लग जाते हैं। 

जिंदगी में ठहराव कितना जरूरी है यह हमें यही दिन बेहद आसानी से बता देता है। यूं तो कहते हैं सभी की जिंदगी में तेज नहीं दौड़ोगे तो कोई तुम्हें कुचलकर आगे निकल जाएगा, लेकिन यह भी सच है की जिंदगी में कुछ पल रुककर समझोगे नहीं तो यह नहीं जान पाओगे की जिंदगी जीनी कैसी है। यह Sunday का ही दिन हैं जो एक इंसान को वक्त देता है अपनी जिंदगी को समझने का।

Sunday Holiday ही नहीं केवल, बल्कि यह परिवार को एक साथ लाने का बहाना है। ऑफिस में 6 दिन में बॉडी से पसीना निकालने के बाद Sunday Holiday के रूप में ऐसे पल दे जाता है जिसका इंतजार कई वक्त से किया जाता है। दोस्तों आज इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से How Sunday becomes Holiday वाले प्रशन का उत्तर दिया जाएगा। लेकिन पहले इस दुविधा को समझें आपने भी शायद देखा होगा अपने बचपन में या आज भी। 

Sunday Holiday यूं तो सभी के लिए होना चाहिए चाहे वे पर्सन स्कूल जाने वाले बच्चे हो या ऑफिस जाने वाले बड़े लोग हों लेकिन Sunday Holiday मनाने के चक्र में हम डिमांड की लिस्ट इतनी बढ़ा चुके की माँ के लिए संडे केवल एक हफ्ते के दिन बराबर रह चुका है। अब आपके सवाल का जवाब देते हैं। Sunday को Holiday वाला दिन क्यों कहा जाता है?

यह तीन कहानियों को कहा जाता है Sunday Holiday कहलाने का श्रेय

Sunday Holiday के रूप में गिने जाने के लिए तीन कहानियों को काफी प्रसिद्धि प्राप्त हुई है। इसमें सबसे पहले इंटरनेशनल फेमस स्टोरी ISO यानी अंतराष्ट्रीय मानकीकरण संस्था के अनुसार 1986 में संडे को हफ्ते का आखिरी दिन कहा गया है जिस दिन पूरे सरकारी एवं प्राइवेट कंपनियों की छुट्टी होगी। 

लेकिन दूसरी कहानी इसके पूर्व हुई थी ऐसा कहा जाता है कि Sunday Holiday की शुरुआत करने का क्रेडिट अंग्रेजी हुकूमत को दिया जाता है। साल 1843 में अंग्रेजों के गवर्नर जनरल ने ब्रिटेन में सभी स्कूलों के बच्चों को Sunday को Holiday मनाने का अवसर दिया। इसके लिए कारण यह दिया गया कि बच्चें इस दिन कुछ क्रिएटिव चीज करना सीखें। 

तीसरी कहानी हमारे भारत से ही संबंधित है, जब भारत पर अंग्रेजों की बादशाहत कायम थी। मजदूरों पर किए गए अंग्रेजों की अत्याचार के कारण उन्हें कभी आराम करने का समय नहीं मिलता था। हफ्ते के सातों दिन केवल काम यहाँ तक कि लंच करने का भी कोई निर्धारित समय नहीं होता था। तब 1857 में मजदूरों के नेता मेघाजी लोखंडे ने मजदूरों के पक्ष में आवाज उठाई थी। जिसके फलस्वरूप 10 जून 1890 से यानी तकरीबन 33 साल की मशक्कत के बाद छुट्टी की घोषित की गई। 

वैसे आपको बताते चलें कि Sunday की Holiday को लेकर कई धार्मिक मान्यताएं भी हैं। हिंदू धर्म के हिसाब से हफ्ते की शुरुआत सूर्य के दिन यानी रविवार से मानी जाती है। वहीं अंग्रेजों की मान्यता है कि ईश्वर ने सिर्फ 6 दिन ही बनाए थे, इसी वजह से सातवां दिन आराम का होता है। 

दोस्तों यह था आपके और हम सभी के पसंदीदा दिन Sunday के Holiday होने का कारण वैसे तो पिछले साल से अभी तक अधिकतर जगह Holiday ही है। लेकिन फिर भी Sunday की अहमियत ज्यादा ही है। उम्मीद है आपको Sunday से जुड़ी हुई Interesting Facts के बारे में काफी जानकारी मिली होगी। ठीक ऐसे ही इस वेबसाइट पर हम कई चीजों के बारे में सटीक नॉलेज वाली बातें शेयर करते हैं। बने रहिए हमारे साथ

धन्यवाद।

Leave a Comment