Republic Day Facts in Hindi | भारत के गणतंत्र दिवस से जुड़े बेहतरीन रोचक तथ्य

26 जनवरी Republic Day Facts जानने के लिए हमने आपके लिए इस ब्लॉग के लिए जानकारी इकट्ठी करके लिखा है। इस 26 जनवरी को भारत अपना 73 वां गणतंत्र दिवस (73rd Republic Day) मनाने जा रहा है। अगर आप उन्में से जिन्हें गणतंत्र दिवस के रोचक तथ्य (Republic Day Facts) जानने में इच्छुक हैं, जो भारत से सबंधित जानकारियों का ज्ञान रखना चाहते हैं उनके लिए यह पोस्ट बेहद बेहतरीन रहेगा ऐसा हम वादा करते हैं।

भारत पूरी दुनिया में मात्र ऐसा देश है जो सेकुलर देश में गिना जाता है। कारण है भारत के संविधान (Constitution of India) जिसमें हर तमगे को बराबर हक दिया गया है। आज भी इसमें समय समय पर बदलाव होते रहते हैं। देश का संविधान होना इसीलिए भी जरूरी है ताकि हमें पता हो एक भारतीय होने के नाते हमारे लिए क्या सही हैं क्या गलत। 

इसी संविधान की लागू होने की तिथि को हम सब भारतीय गणतंत्र दिवस (Republic Day) के रूप में मनाते हैं। अब देश का दुर्भाग्य यह है कि हम में से कई इस दिवस के बारे में अधिक जानकारी नहीं रखते। इसीलिए इस पोस्ट में आपको रोचक जानकारी बताएंगे ताकि आप भारत के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी बटोर सकें। 

गणतंत्र दिवस के रोचक तथ्य | Republic Day Facts

1. भारत का संविधान 26 नवंबर 1949 को बना था और उसके दो महीने बाद यानी की 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था। इसीलिए भारत में हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। जब भारत का संविधान लागू किया गया था तब समय 10 बजकर 18 मिनट हुए थे।

2. भारत के संविधान का मसौदा डॉक्टर अंबेडकर और उनके टीम ने तैयार किया था जिसे पूरा होने में 2 साल 11 महीने और 18 दिन लगे थे।

3. संविधान दो भाषाओं में हाथ से लिखा गया था, यह भाषाएं थी, हिंदी और अंग्रेजी। 

4. दुनिया का सबसे बड़ा लिखा गया संविधान भारत का ही है। भारत के संविधान में 22 लेखों में 12 अनुसूचितों में विभाजित 444 लेख हैं। 

5. कांस्टीट्यूशन ऑफ इंडिया लागू होने से पहले भारत अंग्रेजों के ही संविधान अधिनियम 1935 को ही फॉलो करते थे। 

6. ‘एबाइड विद मी’ एक भजन जो की गणतंत्र दिवस की परेड पर चलता था उसके सबसे बड़े प्रशंसक महात्मा गांधी थे। 

7. गणतंत्र दिवस की परेड की तैयारी में हर दिन 12 किलोमीटर का रास्ता नापा जाता है लेकिन परेड के दिन (26 January) को सिर्फ 9 किलोमीटर का रास्ता रहता है।

8. इसी खास दिन देश के राष्ट्रपति भारत रत्न, पद्म भूषण जैसे पुरुस्कार उन शक्षियतों को दिया जाता है, जिनके कार्य देश को और अधिक गौरवान्वित महसूस करने का अवसर देते हैं। 

9. इसी दिन भारतीय वायु सेना एक आजाद निकाय बनी थी। 

10. राष्ट्रपति सुकर्णो जो की इंडोनेशिया के परमुख रह चुके हैं वे भारत के गणतंत्र दिवस के पहले मुख्य अतिथि थे।

निष्कर्ष

दोस्तों गणतंत्र दिवस भारत के लिए बेहद बड़ा दिन हैं। यह हमें हमारे देश के लिए ओर ज्यादा गौरवान्वित महसूस करने का काम करते हैं। 

धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.