रक्षा बंधन के बारे में रोचक तथ्य | Raksha Bandhan facts hindi 2022

Raksha Bandhan facts hindi में जानिए, इस पोस्ट में आपको पूरी तसल्ली से जानकारी दी जाएगी, लेकिन हो सकता है आप सोच रहे होंगे की आखिर क्यों जरूरत पड़ी इतनी कॉमन फेस्टिवल के बारे में जानकारी देने की जिसके बारे में ऑलरेडी काफी आर्टिकल लिखे जा चुके हैं। काफी लोग इस त्योहार के बारे में अच्छे से जानते हैं। दरअसल ऐसा वे मानते हैं।

भाई बहन के प्यार भरे रिश्ते का यह त्योहार हर साल मनाया जाता है, सबसे पहले तो सभी बहनों को मेरी (अजय गर्ग) तरफ से रक्षा बंधन (Raksha Bandhan 2022) की खूब बधाई। दोस्तों इस उपलक्ष में मेरा ब्लॉग लिखने का मुख्य मक्सद यही है की हम जान सके की Rakshsa Bandhan facts hindi में जान सकें। क्यों मनाई जाती है राखी। 

दोस्तों रक्षा बंधन से सबंधित कई कहानियां चर्चित हैं जिससे यह जान सकें की Raksha Bandhan kyun manaya jata hai, इस त्योहार से जुड़े रोचक तथ्यों को जानने से पहले इन कहानियों का जानना भी जरूरी है क्योंकि इससे हमारा ज्ञान बढ़ता है। 

Raksha Bandhan story

दोस्तों भारत देश को त्योहारों का देश भी कहा जाता है। इनमें से अधिकतर रिश्तों की अहमियत को बतलाते हैं जैसे की रक्षा बंधन भाई बहन के रिश्तों की दास्तां बयां करता है। इससे संबंधित कई कहानियां चर्चित हुई हैं चलिए इन कहानियों के बारे में जानते हैं। 

कहानी 1 :- यमराज की राखी

इस कथा के अनुसार यमराज जी जिन्हें मृत्यु का देवता माना जाता है उन्हें यमुना जी जो की हिंदू धर्म के अनुसार यमराज जी की बहन थी उन्हें रक्षा सूत्र बांधा और आशीर्वाद दिया की लंबी उम्र मिले यमराज जी को। तभी से रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जाता है और हर बहन अपने भाई के लिए लंबी उम्र की कामना करती हैं। 

कहानी 2 :- इंद्र देव की कलाई पर पत्नी ने बांधी राखी

रक्षा बंधन का त्योहार हर रिश्तों के लिए हैं चाहे भाई बहन हो या पति पत्नी भी। इस कथा के अनुसार राजा इंद्र और राक्षसों में एक बार लड़ाई होने वाली थी। राक्षसों की टोली खतरनाक थी और वे इंद्र देव को शिकस्त देने के करीब थे। तब इंद्र देव जी की पत्नी ने उन्हें रक्षा सूत्र बांधा जो करने को उन्हें गुरु बृहस्पति ने कहा था जिसके बाद वह लड़ाई इंद्र देव ने जीत लिया। इसी कारण यह त्योहार मनाया जाता है।

कहानी 3 :- महाभारत में भी Raksha Bandhan का जिक्र

महाभारत कथा में भी रक्षा बंधन के त्योहार का जिक्र हुआ है। इसमें युद्धिष्टर की सेना को रक्षा करने के लिए श्रीकृष्ण जी ने राखी बंधवाने का सुझाव दिया था। इस कथन पर अमल करते हुए कुंती जी ने राखी पौत्र अभिमन्यु को बांधी और श्रीकृष्ण जी को द्रौपदी जी ने राखी बांधी। 

कहानी 4 :- रबीन्द्रनाथ टैगोर जी का सुझाव साथ रहे हिंदू मुसलमान

देश में हिंदू मुसलमान को एक करने की कोशिश कई समय से चलती रही है। इसी कोशिश में एक कोशिश रबीन्द्रनाथ टैगोर जी ने भी की थी। बंगाल का जब विभाजन हो रहा था तब टैगोर जी ने अपील की थी शांति बनाए रखने के हिंदू मुसलमान समाज के लोग एक दूसरे के साथ प्यार से रहें। 

कहानी 5 :- सिकंदर हार जाते अगर न बांधी जाती राखी

यह कहानी है सिकंदर और राजा पुरु की, जिन्हें सिकंदर की पत्नी ने राखी बांधी थी। दरअसल एक समय आया था जब सिकंदर और राजा पुरु के बीच युद्ध होना था। राजा पुरु सिकंदर पर हावी थे लेकिन बहन के राखी का सम्मान करते हुए पुरु ने सिकंदर को बक्श दिया था। 

दोस्तों यह सब कहानी हमें असल में Raksha Bandhan के बारे में एक दिलचस्प बात बताती है की यह त्योहार भाई बहन के रिश्ते के अलावा यह त्योहार उससे बढ़कर है यह अपने प्रिय के लिए लंबी आयु उनकी रक्षा करने का प्रण लेने का त्योहार है। 

दोस्तों अब इससे जुड़े कुछ रोचक तथ्य जान लेते हैं। 

Raksha Bandhan Facts Hindi

1. रक्षा बंधन सावन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है।

2. रक्षा बंधन को राखी का त्योहार भी कहा जाता है।

3. सावन के आखिरी दिन में यह त्योहार आता है इसीलिए श्रावणी भी कहते हैं। 

4. भारत के अलावा आप नेपाल और मॉरीशस के लोगों में भी रक्षा बंधन का त्योहार मनाते देख सकते हैं।

5. राखी दाहिने हाथ की कलाई पर बांधी जाती है।

6. गुरु पूर्णिमा के दिन अमरनाथ यात्रा की शुरुआत होती है जो रक्षा बंधन के दिन ही खत्म होती है। 

7. पेड़ों की सुरक्षा के लिए भी पेड़ों पर राखी बांधी जाती है।

8. महाराष्ट्र में त्योहार को नारियल पूर्णिमा कहकर पुकारा जाता है। 

9. राजस्थान में राम राखी जो की भगवान को और चूड़ा रखी भाभियों को ननद बांधती है। 

10. तमिलनाडु, केरल और उड़ीसा के दक्षिण भारतीय ब्राह्मण इस पर्व को अवनि अवित्तम कहते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों आपको Raksha Bandhan Facts Hindi में जानकर कैसा लगा हमें जरूर बताएं। इसके अलावा साइट पर कई तरह के इंफॉर्मेशन डाली हुई है उसे भी जरूर पढ़ें। 

धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published.