LIC Jeevan Bima:- 7 Amazing Facts about LIC

LIC Jeevan Bima kya hai? वैसे तो यह ऐसी भारतीय कंपनियों में अपना नाम दर्ज करवाती है जिसको इंट्रोडक्शन की कोई जरूरत नहीं हैं, लेकिन लोगों को हर दिन मिलने वाले लोगों की ही जानकारी नहीं होती तो यह तो केवल एक कंपनी का नाम हैं। आज साल 2021 के सितंबर महीने की पहली तारीख है। पहली तारीख कई कार्यरत लोगों के लिए बेहद शुभ होता है। महीने भर की कड़ी मेहनत के बाद जब आपके फोन में सैलरी क्रेडिट होने का मैसेज आता है तो खुश होना लाजमी है। लेकिन यह मैसेज खुशी के साथ साथ लाता है जिम्मेदारी अगर शादी शुदा है तो अपने बच्चों के भविष्य को सुधारना और अपने साथी को खुशी देना। अगर शादी शुदा नहीं हैं तो अपने माता – पिता के प्रति अपने फर्ज को निभाने की जिम्मेदारी। 

 

यूं तो कहा जाता है की हर इंसान को अपने present के बारे में ही फोकस करना चाहिए लेकिन जिम्मेदारी इंसान को past times के साथ भविष्य में भी देखने को मजबूर कर देती है। हालांकि हम अपने past को तो ठीक नहीं कर सकते लेकिन फ्यूचर को ठीक कर सकते हैं। 

 

Future की सबसे बड़ी प्रोब्लम यह ही है कि कोई भी नहीं जान पाता की उसकी “जिंदगी कब तक है?” इसीलिए LIC Jeevan Bima की यह टैगलाइन “जिंदगी के साथ भी, जिंदगी के बाद भी” काफी पॉपुलर है आज के समय में भी। इस पोस्ट में आपको इसी मशहूर भारतीय इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी अर्थात लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन जिसकी नींव 1 सितंबर 1956 में रखी गई थी उसके बारे में अमेजिंग Facts से अवगत करवाएंगे, लेकिन उससे पहले LIC Jeevan Bima kya hai? यह जानते हैं।

 

1 सितंबर 1956 को भारत की वित्तीय राजधानी मुंबई में LIC company की शुरुआत हुई। यह कंपनी आज के वक्त मात्र इंश्योरेंस पॉलिसी देने तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि यह कंपनी कई भिन्न भिन्न कंपनियों में निवेश भी करती है। कंपनी की कुल संपत्ति जो की ₹ 31,11, 847 करोड़ (साल 2019 के मुताबिक) हैं। इससे आप अंदाजा लगा ही सकते हैं की यह कितनी बड़ी कंपनी है। यह कंपनी शुरुआत से केंद्र सरकार के अंतर्गत आती है। अब बढ़ते हैं Facts जानने के लिए।

 

7 Amazing Unknown Facts about LIC Jeevan Bima

Life insurance LIC Jeevan Bima Company

 

  • बहुत सारी कंपनियों के इकट्ठे होने से बना हैं:- एलआईसी कंपनी के स्थापित होने से पहले यानी 1 सितंबर 1956 से पहले भारत में मौजूद इंश्योरेंस कंपनियां रेगुलेशन को कंट्रोल नहीं करते थे बल्कि वे सब अलग अलग सेक्टर पर कार्य करते थे। लेकिन जब 1956 में सरकार ने 245 इंश्योरेंस कंपनियों को nationalized कर दिया तब वे सब कंपनियों के इकट्ठे होने के बाद ही LIC Company की शुरुआत हुई।

 

  • काफी सालों तक रहीं monopoly में:- monopoly होना किसी भी कंपनी के लिए ऐसी स्थिति होती है जो हर कंपनी चाहती है की इस स्थिति से उन्हें भी गुजरना का मौका मिले। दरअसल monopoly में कंपनी अपने कार्य क्षेत्र की एक मात्र कंपनी होती है और वे अपने मुनाफे पर पूर्ण रूप से नियंत्रण कर सकते हैं। सरकार ने एलआईसी के गठन होने के बाद इंश्योरेंस बिजनेस को restricted कर दिया और इस बिजनेस को मात्र सरकार के कंट्रोल तक सीमित कर दिया जिसके कारण 45 साल तक LIC Company monopoly में रही। 

 

  •  सबसे बड़ा institutional investors:- LIC Jeevan Bima Company शेयर बाजार में भी निवेश करती है। साल 2020 के आंकड़ों के मुताबिक कंपनी का net worth  ₹38000 करोड़ था। कंपनी के पोर्टफोलियो में 20 स्टॉक्स थे जिनमें से कुछ के नाम यूं हैं एक्सिस बैंक, air india, canara bank, मारुति सुजुकी इतियादी। कंपनी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के प्रमोटर भी हैं जहां 12.5 प्रतिष्ट का स्टेक होल्ड करती है।

 

  • प्रॉफिट शेयर:- LIC Policy खरीदने वालों के लिए यह Facts जानना बेहद जरूरी है। एलआईसी अपने 95 प्रॉफिट अपने पॉलिसी खरीदारों के साथ साझा करता है और बाकी के बचे 5 प्रतिशत कंपनी ऑनर को जाते हैं जो की केंद्र सरकार होती है।


  • एलआईसी एक मल्टी नेशनल कंपनी है:- एलआईसी कंपनी की जब शुरुआत हुई थी तब यह एक पूर्ण रूप से भारतीय कंपनी ही थी लेकिन साल दर साल गुजरने के बाद कंपनी ने अपना व्यवसाय अपने एजेंट की मदद से बाहर के कई देशों में फैला चुका है इसमें फिजी, सिंगापुर, मॉरीशस, दुबई, कुवैत, बांग्लादेश जैसे कई अन्य देश भी शामिल हैं।


  • एलआईसी अपने एजेंट को देता है सबसे तगड़ा कमीशन:- बड़े वैल्यू में फंड्स इकठ्ठा करने के लिए कंपनी को एक बड़ी टीम की जरूरत होती है। तभी एलआईसी एक बड़ी टीम को एजेंट के रूप में नियुक्त करती है जिनकी संख्या 11 लाख से भी अधिक है। कंपनी अपने एजेंट्स को पॉलिसी बेचने पर पॉलिसी के अमाउंट का 20 प्रतिशत देता है। एक रिपोर्ट की माने तो कंपनी ने मार्च 2020 में कमीशन के तौर पर 21 करोड़ रुपए दिए। 


  • साल 2022 का सबसे बड़ा IPO:- भारतीय शेयर बाजार इस साल बेहद तेजी से बढ़त पर हैं जिसका फायदा कंपनियों के साथ शेयर पर निवेश करने वालों को भी होता है। केंद्र सरकार एलआईसी के 25 प्रतिशत स्टेक बेच रही है जिसके तहत 1 लाख करोड़ रुपए इकट्ठा करने का प्लान है। यह इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा IPO होगा। आप भी अपना Demat Account खोल लें ताकि फायदा उठा सकें। 

 

दोस्तों यह थे कुछ अनकहे Facts about LIC Company उम्मीद है आपको इस पोस्ट से कुछ ऐसी बातें जानने को मिली होगी। ऐसे ही Amazing Facts के लिए Asli Satya से जुड़े रहें। 

 

धन्यवाद।

Leave a Comment