आंखों के बारे में रोचक तथ्य | Facts about Eyes in Hindi

आंखों के पास लफ्ज़ तो नहीं होते लेकिन कहती बहुत कुछ है तो इस पोस्ट में हम आंखो के बारे में रोचक तथ्य (Facts about Eyes in Hindi) जानेंगे।

“इंसानी आंखों की फितरत नहीं छिपी, यह आंखें बहुत कुछ कहती है, कभी किसी से आंख मिलाते हुए तो कभी किसी से आंख चुराते हुए, बड़ी नादानी से पलके झुका लेती है किसी से बात छुपाने के लिए”

दुनिया बेहद ही खूबसूरत है, पेड़, पक्षी, साफ हवा और शुद्ध वातावरण न जाने क्या नहीं है इस दुनिया में। लेकिन यह खूबसूरत दृश्य हम इसीलिए देख पाते हैं क्योंकि हमारे पास सबसे खास खूबसूरत उपहार है वे हैं हमारी आंखें। यूं तो कहा जाता है की आंखों का काम देखना होता है, लेकिन यह अपनी खासियतों की सूची में बिना शब्दों के बोलना भी जोड़ती है। कहने का आसान मतलब यह है की अगर किसी को किसी दूसरे के जीवन में क्या चल रहा है या दूसरा शख्स क्या सोच रहा है यह आप दूसरे की आंख पढ़कर भी बता सकते हैं। क्योंकि आंखों से न ही कुछ छुपा है न ही कुछ छुपाया जा सकता है। 

इस पोस्ट में हम आपको आंखों के बारे में रोचक तथ्य(Facts about Eyes in Hindi) बताने जा रहे हैं लेकिन आंखो के Asli Satya जानने से पहले यह जानकारी जानना भी जरूरी है की आंखे कैसे काम करती है (Information about Eyes in Hindi)।

आंखें कैसे काम करती है | information about Eyes in Hindi

information about Eyes in hindi

दोस्तों यह सब जानते हैं आंखो का काम देखना होता है इसिकी मदद से हम अपने सामने घठित सीन को देख पाते हैं लेकिन सवाल यह आता है की आंखे काम कैसे करती है। हालांकि आंखों के फंक्शन के बारे में पूरी जानकारी आपको अपने साइंस के किताब में मिल जाएगा या आप पढ़ भी चुके होंगे लेकिन इसमें हम आसान भाषा में समझेंगे की आंखें कैसे काम (Information about Eyes in Hindi) करती है।

हर शख्स की आंखे अलग अलग रंग की होती है कइयों की नीली तो कइयों की भूरी तो कइयों की हरी भी होती है, जब भी हम आंखों के रंग की बात करते हैं तो दरअसल आंखो के रंग की नहीं बल्कि Iris के रंग की बात करते हैं। 

Iris में एक पिगमेंट होता है जो सफेद कलर आंखो में पढ़ने के बाद एक रंग को रिफ्लेक्ट करता है। यही iris में मौजूद पिगमेंट हर इंसान में अलग रंग रिफ्लेक्ट करता है। 

Iris के बीच में एक काले रंग का बिंदु है जो सभी के आंख में होता है इसे Pupil कहते हैं। Pupil असल में एक छेद हैं, जब आंखों में लाइट पड़ती है तो इस छेद से आंख के अंदर जाती है और यही एक तस्वीर बनाती है दिमाग में जिससे हम समझ पाते हैं की हमारे सामने क्या हो रहा हैं इसके अलावा जो लाइट iris पर पड़ती है वो या तो अब्जॉर्ब हो जाती है या रिफ्लेक्ट हो जाती है।

Pupil की साइज को कंट्रोल करने का काम भी Iris ही करता है। जब भरी दोपहरी में सूरज की रोशनी सही होती है और रोशनी आंखो में ज्यादा पड़ती है इसीलिए iris pupil की साइज को छोटा कर देता है ताकि रोशनी सही मात्रा में ही आंखो में एंटर करें क्योंकि ज्यादा रोशनी के दाखिल होने आंखो के cell को नुकसान पहुंच सकता है। ठीक इसी कारण रात को या कम रोशनी वाली जगह में pupil का साइज बड़ा होता है। 

Pupil पर जब रोशनी पड़ती है तो वो उसके पीछे अटैच हुए concave shaped lens से मिलती है इसे eye lens भी कहा जाता है। आंखों के उभरे हुए पोर्शन को cornea कहते हैं। जब भी लाइट आंखों में आती है तो सबसे पहले cornea और उसके बाद ही pupil, iris और eye lens पर पड़ती है।

Cornea और pupil के बीच का खाली पोर्शन पूरी तरह से पानी से भरा होता है। इसमें पानी की मात्रा 99.9% होती है और बचे हुए कुछ पर्सेंटेज विटामिन के होते हैं। पानी से भरे होने के कारण इस पोर्शन को Aqueous Humour कहते हैं। Aqueous पानी के ही अंग्रेजी शब्द है। 

कॉर्निया और आई लेंस दोनों की शेप कॉन्केव होती है जब भी बाहर से रोशनी आंखो में आती है इन दोनों पर पड़ने के कारण आंखों के पीछे retina पर एक शार्प इमेज प्रोड्यूस करती है। जिसके कारण हम अपने सामने दृश्य को देख पाते हैं। 

नॉट – eyes information आप यहां से पढ़ सकते हैं।

आंखों के बारे में रोचक तथ्य | Facts about Eyes in Hindi

दोस्तों अब जानते हैं आंखो के बारे में रोचक तथ्य (Facts about Eyes in Hindi), हमने यह जानकारी तो जान ली है की इंसानी आंख कैसे काम करती है लेकिन अब हम जानेंगे की इसके राज़ क्या हैं। 

आंखों से कोई राज़ नहीं छुपा सकते क्योंकि इंसान के हाल सबसे पहले उसकी आंख ही बयान करती है, लेकिन अब हम अपनी आंखों के राज बयान करेंगे। 

1. हमारे मानव शरीर की आंख का कॉर्निया और शार्क मछली की आंख का कॉर्निया काफी हद तक एक समान रहता है इसीलिए शार्क मछली से भी इंसानी आंखों की कॉर्निया को एक्सचेंज किया जा सकता है।

2. Iris नीले रंग का होना बेहद दुर्लभ माना जाता है ऐसे लोगों के पूर्वज 10,000 पूर्व सिर्फ एक ही थे। क्योंकि उस वक्त ज्यादातर या अमूमन सभी के आंखो में भूरा रंग ही रिफ्लेक्ट होता था।

3. एक इंसान एक मिनट में 17 बार पलके झपकाता है, ह्यूमन बॉडी की सबसे तेज मांसपेशियां आंखों की ही होती है।

4. इंसान के देखने की लिमिट 200 डिग्री तक होती है।

5. अगर आपको किसी से प्यार हैं और वह खास शख्स आपके सामने खड़ा है या खड़ी हैं तो आपकी पुतलियां 45 पर्सेंटेज तक फैल जाती है।

आंखों के बारे में रोचक तथ्य (6-10) | Facts about Eyes in Hindi (6-10)

6. इंसानी आंखों में रोशनी पड़ने पर रेटीना में जो इमेज बनती है अगर उसको एक कैमरे की फोटो से मिलाया जाए तो कैमरा  576 मेगापिक्सल का होगा।

7. इंसानी आंखों में फाइबर की मात्रा बेहद अधिक होती है। एक आंख में 12 लाख फाइबर होते हैं। 

8. इंसानी आंखों का साइज उसके धरती पर मां के गर्भ से लेकर वापस मिट्टी में मिल जाने तक एक जैसे ही रहती है।

9. आंखों के वजन को तोलेंगे तो पाएंगे की इंसानी आंखों का वजन 8 ग्राम प्रति आंख होता है।

10. दिमाग की 65 प्रतिशत तक की एनर्जी आंखों को मैनेज करने में उपयोग होती है।

दोस्तों हमने आज आंखों के बारे में हर तरह की जानकारी जानी। यह आंख ही हमें अपने जीवन के कई फैसले लेने में मदद करती है। क्योंकि जब तक आप देखेंगे तब तक समझेंगे नहीं और समझेंगे नहीं तो प्लान कैसे बनाएंगे। 

आंखों के बारे में जानकारी (Information about Eyes in Hindi) आपको कैसे लगी इसके बारे में कमेंट में जरूर बताएं। आंखों के रोचक तथ्यों (Facts about Eyes in Hindi) को जानकर आपको हैरानी जरूर हुई होगी ऐसी ही कई रोचक तथ्य आप अपने वेबसाइट aslisatya से जान सकते हैं

धन्यवाद।

Leave a Comment