Bitcoin kya hai जानिए बिटकॉइन के बारे में रोचक तथ्य (Bitcoin Facts in Hindi)

शुक्रवार (24 सितंबर) को चीन से खबर (China News) आई जिसके कारण बिटकॉइन की वैल्यू (Bitcoin value) 5 प्रतिशत नीचे गिर गई। कारण यह था की चीन के केंद्रीय बैंक ने Bitcoin समेत हर तरह के क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) के लेन देन पर प्रतिबंध लगा दिया है। पीपल्स बैंक ऑफ चीन ने इसके लिए एक न्यू लॉ भी बना दिया जिसके अंतर्गत कोई भी वित्तीय संस्थानों, भुगतान कंपनियों एवं इंटरनेट फार्मा कंपनियों को cryptocurrency से business करने की सुविधाओं को रोक देगा। 

दोस्तों यह उपयुक्त खबर उन लोगों के लिए बेहद हैरान या यूं कहें टेंशन वाली है जिन्होंने इसमें invest किया हुआ है। लेकिन अगर आप उनमें से हैं जिन्होंने Bitcoin में investment तो कभी नहीं किया लेकिन आगे Bitcoin में इन्वेस्टमेंट करने का मन बना चुके हैं। परंतु डर रहे हैं जिसका मुख्य कारण है की लोगों को Bitcoin kya hai यह मालूम नहीं। इस पोस्ट में आपको इसी Cryptocurrency क्या होता है(Cryptocurrency in Hindi) और कैसे काम करता है इसके बारे में डिटेल से बताया जाएगा साथ ही साथ आप पूरा आर्टिकल पढ़ने के बाद Bitcoin Kya hai और बिटकॉइन के बारे में रोचक तथ्य ( Bitcoin Facts in Hindi) को बखूबी जान पाएंगे।

दोस्तों मार्केट में जो पैसे निवेश नहीं करता उसको लगता है की क्रिप्टो मार्केट और शेयर बाजार दोनों एक जुआ है जिसमें निवेशकों की किस्मत के ऊपर सब डिपेंड करता है। अगर किस्मत अच्छी तो पैसे डबल नहीं अच्छी तो पैसे डूब गए। लेकिन अगर किसी नियमित निवेशक से पूछें जो इस फील्ड के जानकार हैं वे यही कहेंगे की अगर आप cryptocurrency के बारे में अच्छे से स्टडी करके उसमें निवेश करेंगे तो आपको नुकसान होने की मात्रा कम रहती है। 

Cryptocurrency क्या होता है?| Cryptocurrency in Hindi

Cryptocurrency डिजिटल युग की मुद्रा है। आसान भाषा में समझा जाए जिस प्रकार देश की मुद्रा जैसे भारत की मुद्रा ‘रुपए’ हैं और इससे हम किसी भी प्रॉडक्ट या सर्विस को खरीद या बेच सकते हैं ठीक इसी तरह Cryptocurrency भी ऐसा ही काम आती है यह भी एक मुद्रा है जो डिजिटल काम करती है। इससे भी आप किसी भी वस्तु या सर्विस की खरीदारी भी कर सकते हैं और बेचते हुए भी इसको इस्तेमाल कर सकते हैं। 

दोस्तों एक वक्त था जब दुनिया में मुद्रा का कोई ऑप्शन ही मौजूद नहीं था तब लोग एक दूसरे के सामान को एक्सचेंज कर लेते थे इस सिस्टम को ‘Barter System‘ कहा जाता था। इसके बाद देश में कागज के currency notes का चलन चलने लगा।

इसके बाद आज का युग अब डिजिटल का है, cryptocurrency इसी डिजिटल युग की करेंसी है। 

Cryptocurrency कैसे काम करता है?

यह Digital Currency है जिसमें Cryptography की help से रिकॉर्ड को सुरक्षित रखा जाता है। इसीलिए इसको लगभग नकल करना नामुमकिन है। यह काम Miners करते हैं। यह क्रिप्टो करेंसी में हुए लेन देन को पावरफुल कंप्यूटर की मदद से देखते हैं और हर ट्रांजेक्शन को एक कोड से सुनक्षित करते हैं। 

Cryptocurrency के लेन देन में सरकारी दखल मौजूद नहीं होता दरअसल इस डिजिटल मुद्रा की मांग इसी वजह से उठी थी ताकि लोग बिना सरकारी दखल के कुछ भी और कहीं भी खरीद या बेच सकें। 

Cryptocurrency को Store कैसे करें?

दोस्तों जैसे आप अपने कागज़ी मुद्रा को संभालकर रखने के लिए वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं ठीक वैसे ही Cryptocurrency को Store करने के लिए आपको Digital wallet की जरूरत पड़ेगी। 

आज के वक्त App store और Google Play Store ऐसे Digital Wallet से भरे पड़े हैं जो यूजर्स को Cryptocurrency को Store करने की सुविधाएं देते हैं। जब भी आपको किसी से भी crypto currency में डील करनी होगी उसको आपको अपना उसी coin का एड्रेस देना होगा। इसी डिजिटल वॉलेट की मदद से आप रिसीव हुए क्रिप्टो को अपने बैंक में ट्रांसफर कर सकते हैं। 

दोस्तों क्रिप्टो करेंसी डिजिटल मुद्रा के समूह को कहते हैं इसमें कई कॉइंस शामिल हैं। इसी में से एक कॉइन का नाम ‘Bitcoin’ है। 

Bitcoin kya hai? | Bitcoin in Hindi

बिटकॉइन cryptocurrency में मौजूद सबसे प्रमुख करेंसी है। क्रिप्टो की शुरुआत इसी करेंसी से हुई थी। यह दुनिया भर में मौजूद करेंसी से काफी अलग है। बाकी करेंसी जैसे की अमेरिकी डॉलर, भारतीय रुपए, यह सब मुद्रा हम छू सकते हैं, देख सकते हैं लेकिन Bitcoin समेत क्रिप्टो करेंसी में मौजूद जितने भी मुद्राएं हैं उसे न ही हम देख सकते हैं और न ही छू सकते हैं क्योंकि इस कॉइन का अस्तित्व पूरी तरह से डिजिटल है। 

Bitcoin पर किसी तरह से सरकार का हस्तक्षेप नहीं होता तभी इसको Decentralized Currency भी कहा जाता है। इसका इस्तेमाल हर कोई कर सकता है जिसको इंटरनेट चलाना आता है। 

Bitcoin और Paper Money में क्या होता है फर्क | Difference between Bitcoin and Paper Money

बिटकॉइन डिजिटल इंटरनेट मुद्रा होने के कारण न ही इससे देख सकते हैं और न ही छू सकते हैं बल्कि इसके विपरित Paper Money अर्थात रुपए (देश की मुद्रा) को आप छू भी सकते हैं और देख भी।

पेपर मनी देश के सरकारी बैंक द्वारा इश्यू किया जाता है तभी आप कागज़ मुद्रा में RBI governor के सिग्नेचर पाएंगे लेकिन बिटकॉइन को इश्यू माइनर्स करते हैं जो cryptography की मदद से बिटकॉइन जैसे कई क्रिप्टो बनाते हैं। 

आप कहीं भी पेपर मनी के माध्यम से ट्रांजेक्शन करते हैं तो आपके ट्रांजेक्शन पर सरकार की नजर होती है ताकि इल्लीगल वर्क को रोका जा सके लेकिन Cryptocurrency में ऐसा नहीं होता क्योंकि इसमें सरकारी हस्तक्षेप नहीं होता। 

Bitcoin के फायदे और नुकसान

फायदेनुकसान
बिटकॉइन का अकाउंट कभी ब्लॉक नहीं होता जैसे बैंक कभी भी हमारे क्रेडिट या डेबिट कार्ड को ब्लॉक कर देता है वैसे यहां नहीं होता। बिटकॉइन पर सरकारी हस्तक्षेप न होने के कारण कइयों का इसमें विश्वास नहीं बन पाता।
बिटकॉइन को आप इंटेनेट के मध्यम से कहीं भी और कभी भी खरीद या बेच सकते हैं। बिटकॉइन के रेट का अंदाजा लगाना काफी मुश्किल रहता है क्योंकि इसमें उतार चढ़ाव काफी रहता है।
बिटकॉइन ट्रांजेक्शन फीस क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के ट्रांजेक्शन फीस से काफी कम रहती है। इंटरनेट से संबंधित होने के कारण बिटकॉइन अकाउंट पर हैक होने का खतरा हमेशा बना रहता है।

बिटकॉइन के बारे में रोचक तथ्य | Bitcoin Facts in Hindi

  • बिटकॉइन की शुरूआत साल 2009 में Satoshi Nakamoto ने की थी लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की यह नाम किसी शख्स का नहीं बल्कि अज्ञात लोगों के समूह का है जिन्होंने मिलकर बिटकॉइन की खोज करी।
  • बिटकॉइन की कुल संख्या 21 मिलियन है। लास्ट बिटकॉइन की माइनिंग साल 2140 तक किया जाएगा। फिलहाल आज के वक्त तक 17 मिलियन बिटकॉइन की माइनिंग हो चुकी है।
  • Laszlo Hanecz नामक एक व्यक्ति ने सबसे पहले बिटकॉइन का इस्तेमाल पिज्जा के दो स्लाइस खरीदने के लिए किया था। उस समय इन्होंने पिज्जा के दो टुकड़ों के लिए 10000 बिटकॉइन अदा किए थे। यह तारीख 22 मई थी इसीलिए इसे ‘Bitcoin Pizza Day’ के रूप में भी बनाते हैं।
  • बिटकॉइन को सुरक्षित रखने के लिए एक Private key मिलती है जो पासवर्ड की तरह काम करती है। इस Private key के खो जाने के कारण सबसे बड़ा नुकसान अमेरिकी मुद्रा डॉलर में 74 मिलियन आंकी गई थी। यह नुकसान वेल्स के जेम्स होवेल नामक व्यक्ति को हुआ था जब उन्होंने अपनी एक पुरानी हार्ड डिस्क को बिना चेक किए फेंक दिया जिसमे उन्होंने अपनी Private key को संभाल कर रखा था। हार्ड डिस्क में इनके द्वारा इकठ्ठे किए गए 7500 बिटकॉइन मौजूद थे। 
  • आज दुनिया भर में जितने भी बिटकॉइन हैं उनमें से मात्र एक तिहाई का ही इस्तेमाल ही वस्तु खरीदने में हुआ है बाकी ज्यों के त्यों ही पड़े हैं।
  • बिटकॉइन पर बैन लगाना इल्लीगल है। दुनिया भर के सभी देशों के constitution में यह मेंशन किया गया है की कोई भी व्यक्ति देश के बाहर ट्रेड कर सकता है और बिटकॉइन भी एक ट्रेडिंग ही तो है। चीन बिटकॉइन को इल्लीगल तो मानता है लेकिन बैन नहीं कर सकता। 
  • बिटकॉइन को स्पेस में भी भेजा जा चुका है। साल 2016 में बिटकॉइन ट्रांसफर टेस्टिंग के लिए स्पेस में भेजा गया। बिटकॉइन का 3D मॉडल तैयार कर उसे कैमरा समेत स्पेस में भेज दिया और ट्रांजेक्शन किया गया जो सक्सेसफुल रहा।

FAQ

बिटकॉइन का मालिक कौन है?

बिटकॉइन का मालिक एक समूह है जो जापान देश से हैं यह अपना नाम Satoshi Nakamoto बताते हैं।

बिटकॉइन किस देश की करेंसी है?

बिटकॉइन एक डिजिटल करेंसी है यह किसी पार्टिकुलर एक देश की नहीं है। यह इंटरनेट पर मौजूद हर व्यक्ति इसका इस्तेमाल कर सकता है।

बिटकॉइन का भविष्य 2022

बिटकॉइन की वैल्यू काफी ऊपर नीचे होती रहती है और हाल ही में चीन के केंद्रीय बैंक द्वारा बिटकॉइन समेत सभी क्रिप्टो करेंसी के लेन देन को अवैध करने से क्रिप्टो मार्केट में 5 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है। इसके कारण आप बिटकॉइन का भविष्य का अंदाजा ठीक से नहीं लगा सकते।

दोस्तों यह थे Bitcoin Facts in Hindi उम्मीद है अब आप इस पोस्ट के मध्यम से बिटकॉइन में निवेश करना है या नहीं इसका फैसला कर सकेंगे। 

धन्यवाद।

Leave a Comment