5 Nipah Virus Hindi unknown Facts:- जानिए इस deadly virus के बारे में रोचक तथ्य

Nipah Virus Hindi Unknown Facts:- देश के दक्षिण राज्य केरल में Nipah Virus से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। केरल में हाल ही में हुए 12 साल के बच्चे की दुर्भाग्यपूर्ण मौत Nipah Virus से ही हुई। इस बच्चे के संपर्क में कुल 188 लोग आएं जिनमें से 20 लोगों को निपाह वायरस से जोखिम भरी स्थिति में बताया जा रहा है। इन्हीं 20 लोगों में से 2 लोगों में निपाह वायरस की पुष्टि हुई है। यह तो हुई बात केरल में पैर पसारते निपाह वायरस की (Nipah Virus in Kerala) अब जानते हैं इस Deadly Virus के बारे में रोचक तथ्य की आखिर यह फैलता कैसे है? क्या निपाह वायरस और कोरोना वायरस में कुछ समानताएं हैं या नहीं। 

 

राज्य केरल कोरोनो हॉटस्पॉट बना हुआ है और अब इसी राज्य में निपाह वायरस का आना डर पैदा करता है लेकिन हमारी वेबसाइट का मकसद हमारे रीडर्स के सामने Asli Satya लाने का होता है इसीलिए यह पोस्ट के जरिए Nipah Virus Hindi Unknown Facts को बताया जाएगा। इस वायरस के रोचक तथ्य जानने से पहले Nipah Virus infection symptoms यह कैसे फैलता है इसके बारे में भी जानकारी होनी जरूरी है। 

 

निपाह वायरस क्या होता है? What is Nipah Virus in Hindi?

 

निपाह वायरस एक Zoonotic Disease है। यह पाया गया है की निपाह वायरस जानवरों से इंसानों में फैलता है और आगे इंसानों से इंसानों में भी ट्रांसफर होता है।  इस Deadly Virus का मुख्य कारण Fruit Bat को माना जाता है। निपाह वायरस को NIV infection भी कहा जाता है। 

 

Nipah Virus infection kaise failta hai?

 

WHO की माने तो निपाह वायरस इंसानों में संक्रमित सुअरों या Fruit Bat (चमगादड़ की प्रजाति) के संपर्क में आने से फैलता है। यह इंसानों तक कुछ फलों के सेवन के कारण भी फैलता है जैसे कि कच्चे खजूर का रस, आम, लीची इतियादी क्योंकि यह चमगादड़ के मल मूत्र या लार से दूषित हुए हो सकते हैं। 

 

नोट:- तभी कहा जाता है की किसी भी फल का सेवन करने से पहले उसको साफ पानी से अच्छे से धोएं तभी उसका सेवन करें।

यह पढ़ें:- Paani ka rang kyon nahi hota? जानिए क्यों पानी बेरंग हैं

 

Nipah Virus Symptoms 

 

इस Deadly Virus के लक्षण काफी हद तक बाकी वायरस की तरह हुबहू है जैसे की बुखार आना, सर दर्द रहना, मांसपेशियों में दर्द, गले में खराश रहना, उल्टी आना यह सब इस वायरस में इंसानों में उत्पन्न होती कुछ बीमारियों के नाम है इसके अलावा काफी रोगियों में सांस लेने की दिक्कतों के बारे में भी रिपोर्ट आई है।

 

Nipah Virus Treatment

 

हालांकि कई वायरस से symptoms एक जैसे होने के बावजूद इस वायरस का प्रबल इलाज अभी उपलब्ध नहीं हो पाया है लेकिन WHO के अनुसार कुछ कड़े स्टेप्स हैं जिसको फॉलो करने से इस डेडली वायरस से बचा जा सकता है। 

 

इस वायरस से बचने के लिए सबसे पहले यह ध्यान रखें कुछ भी फल, सब्जी खाएं तो उसको साफ पानी से धोकर ही खाएं। कुछ भी Nipah Virus Symptoms जैसे कुछ भी लगें तो उसको हल्का न समझकर डॉक्टर से सलाह जरूर लें। लेकिन याद रहें डरिए नहीं। 

 

इसके अलावा अगर आप किसी ऐसे एरिया में रहते हैं जहां चमगादड़ और सुअर होते हैं तो उनके संपर्क में आने से बचें। 

 

दोस्तों यह तो थी Nipah Virus Hindi jaankari लेकिन जरूर आपके मन में यह पढ़के सवाल जरूर आया होगा की यह भारत में आया Nipah Virus और Coronavirus में काफी समानताएं कैसी है? दोस्तों इसका जवाब भी डिटेल्स में जानते हैं।

 

Nipah Virus and Coronavirus Similarities

 

दोनों वायरस के एक समान symptoms होने के कारण यह सवाल सभी के भीतर जरूर आएगा की दोनों एक जैसे हैं लेकिन फिर भी आपको यह मालूम होना चाहिए दोनो काफी भिन्न भी हैं। पहले हम इन वायरस के एक स्मानताओं की बात करते हैं।

 

  • दोनों वायरस के लक्षण एक जैसे:- दोनों ही वायरस इंसानी शरीर में एक जैसे ही रिएक्ट करते हैं जैसे की सिर दर्द होना, खांसी झुकाम होना, तेज बुखार होना इतियादी।


  • दोनों वायरस का पक्का इलाज नहीं:- कोरोना और निपाह वायरस दोनों को जड़ से खत्म करने का इलाज अभी तक उपलब्ध नहीं हो पाया है अर्थात एंटी ड्रग्स दोनो ही बीमारी के लिए मौजूद नहीं है। 


  • दोनों वायरस के इलाज एक जैसे:- निपाह वायरस हो या कॉविड वायरस दोनों के लिए डॉक्टर और विशेषज्ञ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर जोर देते हैं। मास्क लगाना भी दोनो ही वायरस से बचने का प्रमुख बचाव शस्त्र माना जाता है। 


  • चमगादड़ ही दोनों वायरस का प्रमुख स्रोत हैं:- यह दोनों ही वायरस चमगादड़ों से ही फैलता है। हालांकि कोरोना के चमागदाड़ से फैलने की बात की पूर्ण पुष्टि नहीं हुई है लेकिन शुरुआती जांच के मुताबिक कोरोना भी nipah Virus की तरह चमगादड़ों से ही फैला है। 

 

दोस्तों यह थे इन दोनों वायरस के बीच की similarity लेकिन यह सभी जानते हैं की हर सेम दिखने वाली चीज में काफी कुछ डिफरेंट भी होता है। इन दोनों वायरस में भी काफी भिन्न भी हैं। 

 

Difference between Nipah Virus and Coronavirus

 

  • निपाह घातक, कोविड संक्रामक:- यूं तो दोनो वायरस में काफी एक जैसा है लेकिन जो मुख्य कारण दोनों वायरस में से निपाह को अलग और डेडली वायरस बनाता है वह है उसका High Mortality rate का होना। निपाह वायरस जब पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में फैला था तो वहां 66 संक्रमित लोगों में से 45 लोगों की मृत्यु हुई थी हालांकि corona से हुई मौतों के सामने यह आंकड़ा कम लग सकता है लेकिन कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की गिनती भी काफी ज्यादा रहती है।


  • निपाह की वैक्सीन नहीं बनी:- Nipah Virus Vaccine नहीं बनने का मुख्य कारण यह भी है की यह ज्यादा संक्रामक नहीं है और दुनिया के कुछ ही देशों तक ही सीमित है बल्कि कोरोना ने काफी जल्दी दुनिया के अधिकतम सभी देशों को शिकार बना लिया।

 

दोस्तों उम्मीद है आपको Nipah Virus Hindi jaankari काफी हद तक मिल गई होगी। अब इस Deadly Virus Nipah Virus Hindi Unknown Facts के बारे में जानते हैं। 

 

Nipah Virus Hindi Unknown Facts

 

  1. निपाह वायरस सबसे पहले Malaysia के सुअरों के फार्म में फैला था। इसमें 265 लोगों को भी संक्रमित कर दिया था जिसमे से 105 लोगों की डेथ हो गई थी। 
  2. 24 से 48 घंटे में मरीज कोमा में जा सकता है। निपाह वायरस से संक्रमित मरीज काफी कमजोर होने लगता है। सांस लेने में दिक्कत आने लगती है चक्कर आने लगते हैं और कुछ मरीज 1 से 2 दिन में कोमा में चले जाते हैं।
  3. निपाह वायरस को अमूमन दिमाग की सूजन के साथ जोड़ा जाता है इसीलिए बुखार होने पर और लगातार सिर दर्द होने के कारण यह कन्फ्यूजन रहता है की यह वायरस है या नॉर्मल बुखार।
  4. यह वायरस संक्रमित व्यक्ति के पेशाब में भी पाया जाता है। जो भी संक्रमित व्यक्ति उससे दूरी बनाकर ही व्यक्ति कुछ सुरक्षित रह सकता है। 
  5. यह वायरस मलेशिया, बांग्लादेश, भारत और सिंगापुर में ही फैला है।

 

दोस्तों यह थे Nipah Virus Hindi Unknown Facts हमारा मकसद इस वायरस से संबंधित जानकारी देने का है न की डर फैलाने का। इस वायरस से बचने के लिए भी आपको वही स्टेप्स लेने हैं जो आप अभी Corona से बचने के लिए ले रहे हैं। अपना ध्यान रखें।

 

FAQ

 

Q.1 Zoonotic Disease kya hota hai?

 

Ans:- Zoonotic Disease में वायरस जानवरों से ह्यूमन में फैलता है। कोविड और निपाह वायरस दोनों जूनोटिक डिजीज हैं।

 

Q.2 Fruit Bat kya hai?

 

Ans:- फ्रूट बैट चमगादड़ की ही एक प्रजाति है जो अपने भोजन के लिए फ्रूट पर निर्भर रहती है। यह अपने भोजन की तलाश अपनी सूंघने की ताकत के जरिए करती हैं।

 

धन्यवाद

Leave a Comment